बिहार

तेजप्रताप की पत्नी ने नीतीश के पैर छुए; लेकिन भीड़ ने लालू जिंदाबाद के नारे लगाए

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Took Blessing By Touching Nitish Kumar’s Feet, Said In Front Of Father In Parsa’s Meeting Will Come Soon Among You

पटनाएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

परसा के चुनावी सभा में मंच पर पिता चंद्रिका राय के लिए प्रचार करती ऐश्वर्या राय।

  • परसा में पिता चंद्रिका राय की चुनावी सभा में मंच पर थीं ऐश्वर्या
  • सभा को संबोधित करते हुए जल्द राजनीति में आने का दिया संकेत

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान हर दिन नए समीकरण और नए संकेत नजर आ रहे हैं। परसा से चुनाव लड़ रहे एनडीए प्रत्याशी चंद्रिका राय के लिए बुधवार को नीतीश ने चुनावी सभा की। नया संकेत तब नजर आया, जब मंच पर लालू की बहू और चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या पहुंचीं। ऐश्वर्या ने नीतीश के पैर छुए, चंद मिनटों की स्पीच दी और कहा कि कुछ दिनों में मैं आपके बीच आऊंगी।

सभा के दौरान कुछ लोगों ने लालू यादव जिंदाबाद के नारे लगाए तो नीतीश ने बोल दिया कि चुप रहिए। बताया जा रहा है कि नीतीश के मंच पर ऐश्वर्या की एंट्री उनके राजनीति में आने का संकेत है। ऐश्वर्या की शादी लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप से हुई थी। पर ऐश्वर्या ने तेज प्रताप, सास राबड़ी पर घरेलू हिंसा और प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं। दोनों के तलाक का मामला कोर्ट में है।

लालू का नारा लगने पर नीतीश ने कहा- वोट भले ना दो, पर शांत रहो
सभा के दौरान भी हलचल काफी थी। नीतीश, चंद्रिका राय और ऐश्वर्या मंच पर थे। पर, भीड़ में से कुछ लोगों ने लालू यादव जिंदाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिया। उस वक्त नीतीश भाषण दे रहे थे। नारा लगना शुरू हुआ और नीतीश ने अपना भाषण रोक दिया। फिर नारा लगाने वालों से बोले- चुप रहिए, आप जिस पार्टी से आए हैं, उसका हाल बुरा होने वाला है।

इसके बाद नीतीश बोले कि नारे लगाने वालों को सभा से बाहर निकाल दिया जाए। इतना कहते ही जदयू कार्यकर्ताओं ने भी लाल मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिया। मामला गरमाया तो नीतीश को बोलना पड़ा- वोट नहीं देना है तो मत दीजिए, लेकिन शांत रहिए।

नीतीश और चंद्रिका राय ने ऐश्वर्या-तेज प्रताप विवाद को हवा दी
चंद्रिका राय ने समधी लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- ऐश्वर्या के साथ जो हुआ, उसे बिहार की जनता भुला नहीं सकती है। नीतीश भी बोले कि लड़कियों के साथ दुर्व्यवहार पाप है। ऐश्वर्या के साथ हुआ बर्ताव निंदनीय है।

परसा का चुनावी गणित

  • 6 बार इस सीट पर जीत चुके चंद्रिका राय की दावेदारी मजबूत। उनके पिता और पूर्व सीएम दरोगा प्रसाद राय 7 बार और मां पार्वती देवी एक बार विधायक रहीं हैं। साल 2015 में चंद्रिका यहां राजद के टिकट पर चुनाव लड़े थे और लोजपा के छोटेलाल राय को 42,335 वोट से हराया था। इस पार चंद्रिका राय एनडीए से मैदान में हैं और सामने हैं राजद के छोटेलाल राय। राजद इस सीट पर 3 बार, जदयू 2 बार और एक-एक बार जनता दल, निर्दलीय और जनता पार्टी को जीत मिली है।
  • अब तक इस सीट पर हुए 17 चुनाव में सिर्फ तीन बार 1977, 2005 और 2010 में चंद्रिका राय के परिवार के बाहर का नेता विधायक बना है। इस सीट पर यादव वोटरों का दबदबा है। ब्राह्मण और राजपूत भी निर्णायक भूमिका में है।

Leave a Reply