मध्य प्रदेश

पांच गांवों तक पेयजल पहुंचाने की समूह जल याेजना का सीएम ने वर्चुअल भूमिपूजन किया

पारा18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • सांसद ने धमोई योजना से दो और गांव जोड़ने की मांग की, तालाब को पर्यटन के रूप में विकसित करने का कहा

बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने धमोई तालाब से पारा समूह जल योजना का वर्चुअल भूमिपूजन किया। 8 करोड़ 33 लाख 17 हजार रुपए की इस जल योजना से पारा सहित क्षेत्र के ग्राम धमोई, पिथनपुर, झुमका, बांकी व रातीमाली गांव के करीब साढ़े 12 हजार से ज्यादा लोगों को पानी मिलेगा।

वर्चुअल कार्यक्रम ग्राम पंचायत पारा के मांगलिक भवन में रखा गया। समूह जल योजना का भूमिपूजन करते हुए मुख्यमंत्री ने वर्चुअल संबोधित किया। उन्होंने पारा की सरपंच इंदुबाला डामोर व धमोई तलाब जल प्रदाय समिति कि अध्यक्ष चम्पा बाई निनामा से वीड़ियो काॅन्फ्रेंस से बात की। कार्यक्रम में मौजूद ग्रामीणों से मुख्यमंत्री चौहान ने कहा गांवों में बिजली, सड़क व पीने के लिए शुद्ध पानी देना सरकार की प्राथमिकता है। कोरोना काल में सरकार का खजाना खाली है फिर भी सरकार ने कर्ज लेकर 8 हजार करोड़ की समूह नल-जल योजना बनाई। हम जनता को कष्ट नहीं होने देंगे।

समूह नल जल योजना का संचालन गांव की समितियां ही करेगी। कार्यक्रम में कलेक्टर रोहित सिंह, पीएचई के मुख्य अभियंता दीपक रत्नावत, अधीक्षण यंत्री अजय श्रीवास्तव, एसडीएम एमएल मालवीय, जिपं सीईओ सिद्धार्थ जैन, पीएचई के मुख्य कार्यपालन यंत्री एनएस भिंडे, सहायक यंत्री राहुल सूर्यवंशी, रामा जनपद सीईओ एमएल टांक, तहसीलदार प्रवीण ओहरिया, जिपं अध्यक्ष शांति डामोर, भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ओम शर्मा सहित ग्रामीण मौजूद थे।

जसोदा हिरजी व खुमजी में फ्लोराइड अधिक इन्हें भी योजना से जोड़ें
सांसद गुमानसिंह डामोर ने मुख्यमंत्री से वीडियो काॅन्फ्रेंस से बात करते हुए धमोई के पास के ही दो गांव जसोदा हिरजी व खुमजी की भी जल समस्या रखी। उन्होंने कहा वहां पर फलोराइड की मात्रा ज्यादा है। इसलिए इन गांवों को भी समूह जल योजना में शामिल किया जाए। सांसद ने धमोई तालाब को पर्यटन स्थल बनाने की मांग भी की। अंत में सांसद डामोर ने भूमिपूजन के शिलालेख का अनावरण किया।

Leave a Reply