राजस्थान

रायपुर में समिति मुख्यालय पर बनेगा कार्यालय

बर\रायपुर मारवाड़16 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सरपंच प्रेम देवी बनी सरपंच संघ अध्यक्ष, पूर्व में इनके पुत्र रह चुके हैं सरपंच संघ के अध्यक्ष

उपखंड मुख्यालय रायपुर पर गुरुवार को सरपंच संघ के चुनाव संपन्न हुए। रायपुर पंचायत समिति क्षेत्र की 40 ग्राम पंचायतों के सरपंच संघ के सभी पदों पर सर्वसम्मति से निर्विरोध निर्वाचन किया। नवनिर्वाचित रायपुर सरपंच प्रेम देवी माली को सभी सरपंचों द्वारा निर्विरोध चुना गया। सरपंच संघ संरक्षक रतनसिंह भाटी सेंदड़ा को चुना गया। नवनिर्वाचित सरपंच संघ अध्यक्ष प्रेमदेवी माली ने सभी सरपंचों का आभार जताते हुए संगठन को मजबूत बनाने का आह्वान किया।

इस दौरान ग्राम पंचायतों के ग्राम विकास अधिकारी व सरपंच प्रतिनिधि मौजूद थे। संचालन चैनाराम माली ने किया। कार्यक्रम के दौरान बर सरपंच महेंद्र चौहान, गिरी सरपंच रमेशसिंह रावत, बूटीवास सरपंच तारादेवी रावत, बिराटिया कलां सरपंच टिंकू देवी, हाजीवास सरपंच सरवनसिंह, बिराटिया खुर्द सरपंच देवा भाई काठात, झाला की चौकी सरपंच प्रतिनिधि रमेशसिंह रावत, कानुजा सरपंच अमरसिंह, सेंदड़ा सरपंच रतनसिंह भाटी, मेगड़दा सरपंच कालूराम तंवर, अमरपुरा सरपंच सबीना देवी, बाबरा सरपंच मधु कंवर, बगड़ी सरपंच लहरी देवी, बांसिया सरपंच बाबूलाल सीरवी, चांग सरपंच गीता देवी, चिताड़ सरपंच इकबाल काठात, देवगढ़ सरपंच लक्ष्मण राम, देवली कलां सरपंच रतनाराम भाना, झूठा सरपंच पेमाराम, कालब कलां सरपंच गुणवती देवी, कलालिया सरपंच प्रेमलता कंवर, कुशालपुरा सरपंच सुशीला देवी सीरवी, लिलांबा विजयलक्ष्मी, मोहरा कलां फतेहसिंह, मेसिया चंपा देवी, पाटण चीखा देवी, पिपलिया कलां सरपंच अनिकेत शाह, सबलपुरा सरपंच अर्जुन कंवर सहित कई सरपंच एवं सरपंच प्रतिनिधि मौजूद थे। गौरतलब है कि रायपुर सरपंच संघ की अध्यक्ष बनी प्रेम माली के पुत्र चैनाराम माली पूर्व सरपंच कार्यकाल के दौरान रायपुर सरपंच संघ के अध्यक्ष थे।

सभी सरपंचों की आवाज सरकार तक पहुंचाऊंगी : माली
निर्विरोध सरपंच संघ अध्यक्ष बनी प्रेम देवी माली ने सभी सरपंचों को संबोधित करते हुए कहा कि रायपुर उपखंड की 40 ग्राम पंचायतों के सभी सरपंचों की आवाज बनकर राज्य सरकार एवं केंद्र सरकार तक पहुंचाऊंगी। सभी सरपंचों के कामकाज के लिए रायपुर पंचायत समिति मुख्यालय पर कार्यालय का उद्घाटन किया जाएगा, जिसे रायपुर समिति के सभी सरपंचों को कार्य के लिए इधर-उधर घूमना नहीं पड़ेगा।

Leave a Reply