chor minar

हैदराबाद के चार मीनार, दिल्ली के क़ुतुब मीनार के बारे में सुना होगा, ‘चोर मीनार‘ (Chor Minar) का नाम सुना है?

देश की राजधानी दिल्ली को इतिहास में कई शासकों ने अपनी राजधानी बनाया. दिल्ली की आबो-हवा ने कई वंशों को फलते-फूलते और मिट्टी में मिलते देखा है. दिल्ली की ऐतिहासिक इमारतों में भी अलग-अलग वास्तुकला के नमूने दिखते हैं. कुछ इमारतें शान-ओ-शौकत (जैसे-हुमायूं का मक़बरा) की गवाही देती हैं, तो कुछ क्रूरता और निर्दयता की.

भागते-दौड़ते शहर के बीच में ऐसी ही एक इमारत है, नाम है चोर मीनार (Chor Minar). हौज़ ख़ास रिहायशी इलाके के आर ब्लॉक में खड़ी ये मीनार आज लगभग लोगों की नज़रों से छिपी हुई है. ग़ौरतलब है कि कभी इस मीनार के आस-पास सिर्फ़ मृत्यु की बू आती थी.

Also Read:

13वीं शताब्दी में अलाउद्दीन खिलजी (1296ई से 1316ई तक) के शासनकाल में चोर मीनार (Chor Minar) बनवाई गई.

अलाउद्दीन खिलजी ने जलाउद्दीन खिलजी से तख़्त छीन लिया और ख़ुद अमीर-ए-तुज़ुक बन गया. खिलजी के शासनकाल में मंगोल भारत में घुसने और भारत की भूमि पर कब्ज़ा करने की कोशिश कर रहे थे. मंगोल दिल्ली की सीमा तक पहुंच गये. दिल्ली सल्तन ने मंगोल सेना को हराया. कहते हैं कि 1305 में अमरोहा स्थित सिरी किले में हुये युद्ध के बाद 8000 मंगोल सैनिकों की हत्या कर दी गई थी. चोर मीनार (Chor Minar) पर भी कुछ मंगोलों को मारा गया था और उनके सिर इस मिनार से टांगे गये थे.

चोर मिनार (Chor Minar) दहशत और ख़ौफ़ की गवाही देता था. चोर मीनार को चोर, डकैत, घुसपैठियों को डराने के लिये बनाया गया था. इस मीनार में 225 छेद थे और हर छेद से मृतकों के सिर लटकाये जाते थे. आम जनता के लिये बहुत बड़ा संदेश था कि ग़लत गतिविधियों में हिस्सा लेने से ये हश्र हो सकता है.

Also Read:

इस मीनार का इतिहास में कहीं ज़िक्र नहीं मिलता और शायद ये जान-बूझकर ही किया गया था. पश्चिम बंगाल के मालदा में भी ऐसी ही एक मीनार है, जहां से मुग़ल गवर्नर विद्रोहियों को फांसी देते थे.

चोर मीनार (Chor Minar) की ईंटें सैंकड़ों मौतों की गवाह हैं. आज इस मीनार से गुज़रने पर ये एहसास नहीं होता. ये इमारत भी इतिहास की कई बदनसीब इमारतों में से है, जो ज़िन्दा तो हैं लेकिन अपना रुतबा खो चुकी हैं.

6 thoughts on “चार मीनार, क़ुतुब मीनार के बारे में सुना होगा, ‘चोर मीनार’ का नाम सुना है?”
  1. Dream11 क्या है कैसे खेलें और जीतें पाइए पूरी जानकारी - सफलता की कहानी says:

    […] […]

  2. मृत्यु के समय रावण की उम्र कितनी थी? गोत्र कौन सा था? यह नहीं जानते होंगे आप - सफलता की कहानी says:

    […] […]

  3. Google Mera Naam Kya Hai ? गूगल से पुछे गूगल मेरा नाम क्या है - says:

    […] […]

  4. Bachpan Ka Pyar : मिलिए बचपन का प्यार मेरा के ऑरिजिनिल सिंगर से - says:

    […] […]

  5. Delhi University में खुला फ्री ओपन बार, यहां बीयर लेने वालों की लगती है लंबी लाइन - says:

    […] […]

  6. Triton EV : सिंगल चार्ज में रायपुर से दिल्ली पहुंचाएगी ये इलेक्ट्रिक कार - says:

    […] […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version