Digital Marketing In Hindi

आज हम आपको बताते है कि ऑनलाइन मार्केटिंग (Online Marketing) या Digital Marketing क्या होती है और यह क्यों इतनी जरुरी है. आज का युग डिजिटल युग है आज हर कोई इंटरनेट (Internet) पर सर्च (Search) करता रहता है आज यदि किसी को कुछ भी लेना या खरीदना हो तो सबसे पहले वह नेट में सर्च ही करता है. आज 80% लोग ऑनलाइन खरीददारी (Online Purchasing) करते है जैसे टिकट बुकिंग, बिल भुगतान, फ़ोन रिचार्ज (Mobile Recharge), ऑनलाइन लेनदेन इत्यादि। ऐसे में हर कंपनी या बिज़नेस के लिए डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) महत्वपूर्ण हो जाता है। साधारण शब्दों में अपनी सेवाओं और उत्पादों को डिजिटल माध्यम से मार्केटिंग करने को ही डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) कहा जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) में कंप्यूटर, मोबाईल, इंटरनेट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिये की जाने वाली मार्केटिंग शामिल है इसे डिजिटल मार्केटिंग के साथ ही साथ ऑनलाइन मार्केटिंग भी कहते हैं. इसमें व्यवसाय को बढ़ाने के लिए सोशल मीडिया, मोबाइल, ईमेल, एसईओ आदि का प्रयोग होता है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) के साथ, आप पारंपरिक प्रचार प्रसार के तरीके – जैसे होर्डिंग या प्रिंट विज्ञापन – की तुलना में अपने अभियानों की सफलता और रॉय की निगरानी के लिए एनालिटिक्स (Analytics) डैशबोर्ड (Dashboard) जैसे टूल का भी उपयोग कर सकते हैं।

जैसे-जैसे अब लोग स्क्रीन के सामने अधिक से अधिक समय बिताते जा रहे हैं, डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) एक प्रभावी तरीके से ग्राहकों तक पहुंचने के लिए सबसे महत्वपूर्ण उपकरण बन गया है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) डेस्कटॉप कंप्यूटर से लेकर स्मार्टफोन तक सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के उपयोगकर्ताओं को टारगेट करता है। एक व्यवसाय को ऑनलाइन बढ़ावा देने और दर्शकों को संलग्न करने के लिए, आपको विभिन्न प्रकार के डिजिटल मार्केटिंग प्रक्रमों  (Tools) को उपयोग करने की आवश्यकता है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) क्यों आवश्यक है

आज का युग डिजिटल युग है और इस युग में जमे रहने के लिए डिजिटल मार्केटिंग बहुत आवश्यक है डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) का उपयोग दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है कहा जाय तो डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) ही एकमात्र ऐसा साधन है जिसके माध्यम से कम समय और खर्चे पर आप बेहतर परिणाम ला सकते है

पहले लोग अखबार, पोस्टर, या विज्ञापन का सहारा लेते थे परन्तु आज लोगों का विश्वास भी डिजिटल मार्किट की ओर बड़ रहा है।

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) में आप अपने उत्पादों और सेवाओं की बिक्री को बिना बाज़ार में जाए कही से भी कर सकते है आज लोगों जो खरीदना होता है वह वही सर्च करते है।

Also Read

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) के प्रकार

SEO

यह ऐसा तकनीक है जिसको करने से आपकी वेबसाइट की रैंकिंग (Website Ranking) सर्च इंजन (Search Engine) पर ऊपर आती रहती है वेबसाइट की रैंकिंग को बेहतर बनाने के लिए ये कुछ टिप्स आपकी सहायता कर सकते हैं.

Title Tag – किसी भी पेज का टैग सर्च इंजन को बताता है कि आपका पेज या सर्विस किस बारे में है। यह 40 और 60 वर्ण के बिच में होना चाहिए। अगर आपने अपनी वेबसाइट का टाइटल और टैग एक ही रखा है तो आपकी वेबसाइट बहुत जल्द ही रैंक करने लगती है।

मेटा विवरण – आपकी वेबसाइट पर मेटा विवरण (Meta Description) सर्च इंजन को प्रत्येक पृष्ठ के बारे में थोड़ा और बताता है। इसका उपयोग आपके विजिटरों द्वारा यह समझने के लिए किया जाता है कि पृष्ठ क्या है और यदि यह प्रासंगिक है तो बेहतर ढंग से समझा जा सके। इसमें आपका कीवर्ड (Key Word) शामिल होना चाहिए और पाठक को यह बताने के लिए पर्याप्त विवरण भी देना चाहिए कि इसमें क्या कंटेंट है।

सब-हेडिंग – यह सर्च इंजन और पोस्ट पढ़ने वालो को आसानी से समझाने में मदद करता है कि आपकी पोस्ट किस बारे में है इसलिए सब हेडिंग का प्रयोग किया जाता है इसके अलावा जब सर्च इंजन किसी भी पेज को क्रॉल करता है तो सर्च इंजन कीवर्ड्स से सजे हुए टैग को ही स्कैन करता है हम सर्च इंजन को कंटेंट के बारे में बेहतर समझने के लिए हेडर H1, H2 और H3 टैग का उपयोग करते हैं।

आंतरिक लिंक – वेबसाइट को रैंक करने के लिये हाइपरलिंक (Hyperlink) बहुत महत्वपूण होती है इसका मतलब ये होता है कि बिना लिंक के आप कोई जानकारी हासिल नहीं कर सकते है उदाहरण जब हम किसी सेवा के बारे में लिख रहे है तो हम अपने वेबसाइट पर दूसरी सेवा का लिंक लगा सकते है। यह एक पेज से दुसरे पेज पर जाने में मदद करता है। यदि आप चाहे तो अपने उसी पेज का यूआरएल पुरे पेज के कंटेंट में से किसी कीवर्ड को टैग करके दे सकते है. जैसे यहाँ पर Digital Marketing में लगा हुवा है

इमेज का नाम और ALT टैग – किसी भी फोटो पर ALT टैग इसलिए लगाना पड़ता है क्युकी ये सर्च इंजन को बताता है कि आपकी फोटो क्या है. बिना ALT टैग के सर्च इंजन फोटो को पढ़ नहीं पाता है, जब भी कोई सर्च इंजन पर फोटो देखता है तो सर्च इंजन वहा आपकी फोटो भी दिखाता है ALT टैग लगाने से हमारी वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ती है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग (Social Media Marketing)

सोशल मीडिया (Social Media) के माध्यम से व्यक्ति अपने विचारो को लोगों के सामने रख सकता है इन साइटों पर आपने विज्ञापन देखे होंगे जो पैसे देकर चलते है इन्हे सोशियल मीडीया मार्केटिंग (Social Media Marketing) कहते है।

दूसरे शब्दो में – सामाजिक नेटवर्क जिनका उपयोग सोशियल मीडीया मार्केटिंग (Social Media Markeitng) के लिए किया जाता है, निचे कुछ सोशियल मीडीया की फेमस वेबसाइट है जैसे-

फेसबुक

ट्विटर

इंस्टाग्राम

लिंक्डइन

यूट्यूब

कंटेंट मार्केटिंग (Content Marketing)

कंटेंट मार्केटिंग (Content Marketing ) भी डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) का एक अंग है इसमें आप एक सम्पादक (Editor) के रूप में भूमिका निभाते है. इसमें वेबसाइट सामग्री लेखक (Website content writer) भिन्न – भिन्न चीजों के बारे में लिख कर लोगो तक अपना या किसी भी चीज का ज्ञान देता है।

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) एक तरह की ऑनलाइन बिक्री रणनीति है जो एक उत्पाद स्वामी को अन्य दर्शकों को लक्षित करने की अनुमति देकर बिक्री बढ़ाने की अनुमति देता है- “सहयोगी” – दूसरों को उत्पाद की सिफारिश (प्रचार) करके एक कमीशन कमाते हैं। इसी समय, यह संबद्धों के लिए उत्पाद की बिक्री पर पैसा कमाने के लिए अपने स्वयं के उत्पादों को बनाने के बिना संभव बनाता है।

एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) का वो रास्ता है जिसमे दूसरे के सामान का लिंक या विज्ञापन आप अपने वेबसाइट, ब्लोग पर पोस्ट करके उसको सेल करते है, तो वो उस प्रॉफिट में से कुछ हिसा आपको भी देता है।

सीधे शब्दों में कहें तो एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) में किसी ब्लॉग या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या वेबसाइट पर शेयर करके किसी उत्पाद या सेवा का जिक्र किया जाता है। प्रत्येक बार जब कोई व्यक्ति उस लिंक से जुड़े अनूठे लिंक के माध्यम से खरीदारी करता है, तो संबद्ध एक कमीशन कमाता है।

Also Read:

ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing)

जब कोई कंपनी अपनी सेवाओं को ई-मेल के माध्यम से दुसरो तक पहुंचाता है तो उसे ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing) कहते है

ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing) एक वाणिज्यिक संदेश भेजने का कार्य है, आमतौर पर ईमेल का उपयोग करके लोगों के समूह को अपने व्यापक अर्थों में, संभावित या वर्तमान ग्राहक को भेजे गए प्रत्येक ईमेल को ईमेल मार्केटिंग (Email Marketing) माना जा सकता है। इसमें विज्ञापन भेजने के लिए ईमेल का उपयोग करना, व्यापार का अनुरोध करना, या बिक्री देना शामिल है।

पे पर क्लिक (PPC)

यह डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) का वो भाग है जिसमे आपको विज्ञापन दिखाने के लिए पैसे देने पड़ते है जब कोई इन विज्ञापनो के द्वारा आपकी वेबसाइट पर आता है तो उसके लिए किसी लिंक पर क्लिक करते ही आपके पैसे कटते हैं इसे ही पे पर क्लिक (PPC) कहते है।

सीधे शब्दों में कहें तो ऑनलाइन विज्ञापन का एक रूप है जिसमें उपयोगकर्ता अपने विज्ञापनों पर क्लिक करने पर विज्ञापनदाताओं को लागत वसूलते हैं। विज्ञापनदाता कीवर्ड, प्लेटफ़ॉर्म और दर्शकों के प्रकार के संबंध में एक क्लिक के कथित मूल्य पर बोली लगाते हैं जिसमें यह उत्पन्न होता है।

एप्स मार्केटिंग

एप्स मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का ही एक रूप है इसमें आप अपने उत्पाद का ऐप्स बनाकर प्रचार कर सकते हो। आजकल हर कोई स्मार्ट फ़ोन का उपयोग करता है ऐसे में आप एप्स के माध्यम से अपने व्यापार को पूरी दुनिया में फैला सकते है।

Google Ads

Google विज्ञापन (Google Ads) भी PPC की तरह भुगतान-प्रति-क्लिक प्लेटफ़ॉर्म है. इसमें गूगल अपने विज्ञापनो (Google Ads) को अपने नेटवर्क साइटों पर दिखता है Google विज्ञापन (Google Adsense) अक्टूबर 2000 में लॉन्च किया गया था.

Microsoft Ads

Google Ads के समान, Microsoft Ads भी एक PPC प्लेटफ़ॉर्म है जो अपना विज्ञापन Microsoft और Yahoo नेटवर्क पर दिखाता है। आज भी Bing नेटवर्क पर 137 मिलियन खोजकर्ता हैं।

डिजिटल मार्केटिंग के लाभ – Digital Marketing Benefits

किसी दूसरे offline मार्केटिंग से काफी अच्छा डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) है इसमें पैसे लगाने के बाद तुरंत बाद लाभ मिलने लगता है. उदाहरण अगर आप अपने बिज़नेस का विज्ञापन किसी अख़बार या पोस्टर लगा कर करते हो तो ये बताना मुश्किल होगा कि आपका विज्ञापन कितने लोगो ने पढ़ा और ये उपभोक्ताओं तक पहुंचा या नहीं।

जबकि डिजिटल मार्केटिंग में आपका विज्ञापन हजारो लोगो के पास पहुंच जाता है और जिसको जरूरत होती है वो इसे पढ़के आपके पास आता है।

विस्तृत

डिजिटल मार्केटिंग (Digital Marketing) की सबसे बड़ी खासियत है कि आप अपना विज्ञापन सिर्फ उन्ही लोगो को दिखा सकते हो, जिन्हे आपके उत्पाद की आवश्यकता हो. इसमें आप चाहे तो लिंग, उम्र, क्षेत्र को टारगेट कर सकते हो, जिन्हे इसकी जरुरत हो. इसमें खास बात यही है कि फालतू का इन्वेस्टमेंट नहीं करना पड़ता है जितने लोग आपके विज्ञापन पर आयंगे आपके सिर्फ उतने ही पैसे लगेंगे।

तो अब आप समझ ही गये होंगे की डिजिटल मार्केटिंग किन किन माध्यमों से और कैसे होता है. इसे आप अपने कैरियर के रूप में भी चुन सकते है मार्किट में बहुत सारी digital marketing company , digital marketing agency है. आप चाहे तो गूगल पर digital marketing services, digital marketing jobs, digital marketing agency in mumbai, digital marketing agency new york, digital marketing agency in new york, digital marketing agencies in london, digital marketing courses in london, digital marketing agencies sydney, digital marketing agency los angeles, जैसे की वर्ड का प्रयोग करके भी काम खोज सकते है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *