मेरे पड़ोसी मेरे गेट पर रोज कार खड़ी कर देते हैं, मैं क्या करूँ?

पडोसी

मेरे पड़ोसी मेरे गेट पर रोज कार खड़ी कर देते हैं, मैं क्या करूँ?. ये प्रश्न हमें आज एक भाई साहब ने मेसेज में पूछा था तो चलिए आज आपको इसका समाधान भी बता ही देते है.

पड़ोसी को बड़े प्यार से घर मे बुला कर चाय पिलाना और नीचे दिए हुए संस्मरण सुनाना।

कई वर्ष पहले की बात है। मैं छोटा था और मेरा छोटा भाई बहुत ही छोटा था। मेरे पापा के पास एक लूना थी। क्या पता कहाँ से उठा लाये थे कुछ ढाई हजार की थी। लेकिन बड़े प्यार से रखते थे।

एक दिन मेरे छोटे भाई ने, जिसे पेन से अपना नाम कागज़ पर लिखना नहीं आता था; लूना पर नाम लिख दिया। वो भी चाकू से! खरोंच-खरोंच के।

बहुत पिटा था कसम से।

Also Read:

फिर एक बार मेरी बहन ने लूना की नंबर प्लेट पर फूल-पत्ती उकेर दिए थे। अब वो पापा की लाडली थी तो वो तो बच गयी, लेकिन हम दोनों भाई पिट गए कि अगर तुमने ऐसा किया तो हाथ-पांव तोड़ दिए जाएंगे। ये डेमो पिटाई है।

फिर हंसते हुए कहना कि भाईसाहब जब आपकी गाड़ी मेरे दरवाजे पर खड़ी रहती है तो बड़ी याद आती है उन शैतानियों की। आप भी तो अपने ही है कि नहीं। आपकी गाड़ी भी मेरी अपनी गाड़ी जैसी है। हेहेहे!

फिर गंभीर होकर कहना… कि मजबूर ना करो!

अगर बड़े होकर तुम बात नहीं मानोगे तो मैं अपना बचपन वापस जी लूंगा।

बोनेट पर कुछ भी खोद दूंगा। नंबर प्लेट को पूरा काला रंग दूंगा।

कार के बगल में मटकी के अंदर रखकर रस्सी बम फोड़ दूंगा।

टायर सिर्फ पंचर नहीं करूंगा। टायर काट के चप्पल बना लूंगा।

पेट्रोल-डीज़ल से चलने वाली कार को “रथ” बना दूंगा।

कार की टंकी का मुंह मीठा करवा दूंगा आधा किलो शक्कर से। शिल्पा बताएगी क्या होगा फिर! 😜😁

ये हवा निकालने वाली हरकत आजकल के बच्चे करते हैं।

समझ आयी तो ठीक! वरना चाय तो पिला चुके अपन !

आपके पास भी इसका कोई समाधान हो तो कमेंट में लिखे

One Comment on “मेरे पड़ोसी मेरे गेट पर रोज कार खड़ी कर देते हैं, मैं क्या करूँ?”

Leave a Reply